Gyanvapi Masjid Dispute : ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे रिपोर्ट पर वाराणसी कोर्ट के फैसले को मिलेगी चुनौती, ओवैसी बोले- ज्ञानवापी मस्जिद थी और रहेगी

Gyanvapi Masjid Varanasi Dispute मुस्लिम पक्ष ज्ञानवापी मस्जिद के शिवलिंग मिलने वाले उस स्थान को सील करने के फैसले को चुनौती देगा। कोर्ट ने वजू खाने के पास शिवलिंग मिलने पर उस स्थान को सील करने का आदेश दिया है।

लखनऊ, जेएनएन। वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में तीन दिन के सर्वे में सोमवार को शिवलिंग मिलने के बाद मामला काफी गरमा गया है। वाराणसी की कोर्ट के आदेश पर हुई सर्वे की कार्यवाही की रिपोर्ट को मुस्लिम पक्ष हाई कोर्ट में चुनौती देने की तैयारी कर रही है, उधर एआइएमआइएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने धमकी दी है कि ज्ञानवापी मस्जिद थी और रहेगी, चाहे जो भी कर ले।

वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में कोर्ट के निर्देश के बाद सर्वे के दौरान शिवलिंग मिलने के बाद मुस्लिम पक्ष ने हाई कोर्ट जाने की तैयारी कर ली है। मुस्लिम पक्ष कोर्ट के फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती देगा। मुस्लिम पक्ष ज्ञानवापी मस्जिद के शिवलिंग मिलने वाले उस स्थान को सील करने के फैसले को चुनौती देगा। कोर्ट ने वजू खाने के पास शिवलिंग मिलने पर उस स्थान को सील करने का आदेश दिया है। इसके साथ ही कोर्ट ने वहां पर केन्द्रीय बल तैनात करने के साथ सुरक्षा इंतजाम बढ़ाने और स्थान को सील करने का आदेश दिया है। वाराणसी में ज्ञानवापी परिसर के वजू खाने में शिवलिंग मिलने पर कोर्ट के निर्देश पर पूरी जगह सील की गई है। अब वहां पर सीआरपीएफ के हवाले सुरक्षा रहेगी।

jagran
वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने के बाद हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी का विरोध और तेज होता जा रहा है। वहां पर सर्वे के विरोध में उन्होंने कहा कि वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद थी और वह कयामत तक रहेगी। उनको कहा कि यह प्रकरण तो अयोध्या के बाबरी मस्जिद में दिसंबर 1949 की पुनरावृत्ति है।
jagran
यह आदेश ही मस्जिद के धार्मिक स्वरूप को बदल देता है। यह 1991 के एक्ट का उल्लंघन है। यह मेरी आशंका थी और यह सच हो गया है। ज्ञानवापी मस्जिद फैसले के दिन तक मस्जिद थी और रहेगी इंशाअल्लाह। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि पहले बाबरी हुआ, अब ज्ञानवापी पर बवाल हो रहा है। तुमने मक्कारी से बाबरी मस्जिद को छिना, लेकिन अब ज्ञानवापी को नहीं छीन पाओगे. ज्ञानवापी मस्जिद थी है और रहेगी।

Source Link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *