Agra Drug Case: प्लॉट में मिली थीं 40 लाख की सैंपल की दवाएं, तीन आरोपियों के खिलाफ मुकदमा

14 मई को छत्ता के सिंगी गली में एक प्लॉट में सैंपल की दवाएं फेंकी गईं। इनकी कीमत 40 लाख रुपये आंकी गई। मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपी घरों से फरार हो गए हैं।

 आगरा के छत्ता के सिंगी गली इलाके में खाली प्लॉट में सैंपल की दवाओं को ठिकाने लगाने की कोशिश के मामले में सोमवार रात को मुकदमा दर्ज कराया गया। इसमें तीन लोगों को नामजद किया गया। एसटीएफ ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी, लेकिन वो घरों से फरार हो गए हैं।

एसटीएफ आगरा यूनिट ने 12 मई को ताजगंज स्थित दो गोदाम पर सैंपल की दवाएं पकड़ी थीं। इस मामले में गोदाम संचालक सोनू अग्रवाल को जेल भेजा गया था। उसके भाई सहित पांच आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। सोनू अग्रवाल से पूछताछ में अवैध कारोबार से जुड़े लोगों के नाम सामने आए थे। इसके लिए पुलिस टीम कार्य कर रही थी।

प्लॉट में मिली थीं 250 प्रकार की दवाएं 

14 मई को छत्ता के सिंगी गली में एक प्लॉट में सैंपल की दवाएं फेंकी गईं। सूचना पर एसटीएफ और औषधि विभाग की टीम पहुंची थी। 31 बोरे दवाएं जब्त की थीं। इनमें 250 प्रकार की दवाएं थीं। इनकी बाजार में कीमत 40 लाख रुपये आंकी गई। यह सभी सैंपल की दवाएं थीं, जो मरीजों को मुफ्त में बांटने के लिए फार्मा कंपनियों ने दी थीं। एक कार्टन पर डॉ. अतुल गुप्ता, संजय प्लेस लिखा था। मोबाइल नंबर भी था। भेजने वाले का पता हिमांशु मल्होत्रा, पानीपत लिखा था। यह कोरियर कंपनी से भेजी गई थी।

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *