शाहजहांपुर: दादा ने भाभी के हाथों मरवा दिया था मासूम पोती को, बेटे की दूसरी शादी कराना चाहता था आरोपी

ग्वार गांव के धीर सिंह की दो साल की बेटी प्रज्ञा 29 नवंबर को दोपहर करीब तीन बजे घर के बाहर खेलते हुए लापता हो गई थी। 14 दिसंबर को पिता धीर सिंह के पुराने खंडहरनुमा मकान में बच्ची का सड़ा-गला शव मिला था।

पुलिस गिरफ्त में पोती की हत्या का आरोपी दादा और उसकी भाभी

पुलिस ने तिलहर थाना क्षेत्र के ग्वार गांव में दो साल की बच्ची प्रज्ञा की हत्या का खुलासा कर दिया है। अपनी बहू को घर से निकालकर बेटे की दूसरी शादी करने के लिए पिता ने अपनी भाभी के हाथों पोती की गला दबाकर हत्या करा दी थी। पुलिस ने बच्ची के दादा मुनेंद्र और चचिया दादी तेजवती को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

ग्वार गांव के धीर सिंह की दो साल की बेटी प्रज्ञा 29 नवंबर को दोपहर करीब तीन बजे घर के बाहर खेलते हुए लापता हो गई थी। 14 दिसंबर को पिता धीर सिंह के पुराने खंडहरनुमा मकान में बच्ची का सड़ा-गला शव मिला था।

बुधवार को पुलिस ने धीर सिंह के पिता मुनेंद्र और चाची तेजवती को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने बच्ची की हत्या की बात स्वीकार ली। पुलिस के मुताबिक मुनेन्द्र सिंह ने बताया कि वह अपने बेटे धीर सिंह की दूसरी शादी कराना चाहता था। इसीलिए उसने अपने छोटे भाई बालिस्टर की पत्नी तेजवती के साथ मिलकर हत्या की योजना बनाई थी।

तेजवती ने बच्ची की गला दबाकर हत्या कर शव बोरे में भरकर खंडहर में फेंक दिया था। दादा मुनेंद्र ने शव ईंट-पत्थर से ढककर छुपा दिया था। एसपी ग्रामीण संजीव कुमार वाजपेयी ने बताया कि आरोपियों के गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *