वेंटीलेटर पर अस्पताल, बुनियादी सेवाएं भी मुहाल


अगवानपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बिजली कनेक्शन कराने की प्रक्रिया काफी समय से चल रही है। बिजली निगम ने इस्टीमेट भेज दिया है। विभाग के खाते में रखरखाव के पैसे नहीं हैं। व्यवस्था करके पैसा जमा कराया जा रहा है। जल्द ही स्वास्थ्य केंद्र बिजली से जगमगाएगा।
– राजीव चौधरी, चिकित्सा प्रभारी ताजपुर, अगवानपुर

अगवानपुर। अगवानपुर स्वास्थ्य केंद्र मेें बिजली आपूर्ति व्यवस्था दुरुस्त नहीं होने के कारण रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में डॉक्टर और मरीजों को गर्मी में परेशान होना पड़ा। स्वास्थ्य केंद्र में मरीज और तीमारदारों को ठंडे पानी के लिए तरसना पड़ा। डॉक्टर भी पसीना बहाते हुए मरीजों की जांच करने को मजबूर दिखे। बिजली न होने के कारण कम तापमान में रखी जाने वाली कई महत्वपूर्ण दवाएं भी यहां उपलब्ध नहीं कराई जा पा रही हैं।

अगवानपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बिजली की व्यवस्था कराना विभाग के अधिकारियों के लिए मुश्किल साबित हो रहा है। बिजली की व्यवस्था के लिए चिकित्सा प्रभारी समेत विभाग के अधिकारी एड़ी चोटी का जोर लगा रहे है। ऐसे में प्रत्येक रविवार को स्वास्थ्य केंद्र में मुख्यमंत्री आरोग्य मेले का आयोजन किया जाता है। हर बार की तरह रविवार को भी मेला लगा। यह रविवार इस महीने का सबसे गर्म दिन साबित हुआ। चिलचिलाती धूप और 41 डिग्री सेल्सियस तापमान में मरीज अस्पताल पहुंचे। उनको अस्पताल में पंखे की हवा तो दूर ठंडा पानी तक मयस्सर नहीं हुआ। धूप से अस्पताल के कमरे भी तप रहे थे। भीषण गर्मी में पसीना बहाते हुए डॉक्टरों ने मरीजों का इलाज किया। मरीज भी पसीना पोंछते और परेशान होते हुए डॉक्टर को अपना हाल बताने को मजबूर दिखे। प्यास बुझाने के लिए मरीज अस्पताल के एक हैंडपंप से पानी भरकर पीने को मजबूर थे। चिलचिलाती गर्मी में ब्लाक की महिलाएं व पुरुष और बच्चे स्वास्थ्य से संबंधित जांच कराने के लिए आए। इतनी अव्यवस्था के बीच भी गर्भवती महिलाओं और 31 लोगों की कोरोना की जांच हुई। कुछ गर्भवती महिलाओं को जिला अस्पताल रेफर किया गया।

मुख्यमंत्री आरोग्य मेले के मई महीने के रविवार को स्वास्थ्य केंद्र में आए मरीजों की संख्या

तारीख मरीजों की संख्या

01 मई 92

08 मई 62

15 मई 56

– काफी समय से कमर में दर्द है, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में आरोग्य मेला लगा है। यहां से दवा लेने आए थे। इतनी गर्मी के बावजूद यहां हवा और ठंडे पानी की कोई व्यवस्था नहीं है। इस बारे में सरकार और स्वास्थ्य विभाग को ध्यान देने की जरूरत है। – शकुंतला

– आठ माह के गर्भ से हूं। आरोग्य मेले में स्वास्थ्य केंद्र में दवा लेने आई थी। केंद्र में बिजली और पानी को कोई व्यवस्था नहीं है। इस चिलचिलाती गर्मी में स्वास्थ्य विभाग को मरीजों के ख्याल के लिए बिजली की व्यवस्था करनी चाहिए।

– लता

– स्वास्थ्य केंद्र के पंखे शो पीस बनकर लटक रहे हैं। ठंडे पानी की तो बात ही छोड़िए ऐसी गर्मी में लोग ठंडे पानी और हवा को तरस रहे हैं। स्वास्थ्य केंद्र की अव्यवस्था महकमे की पोल खोल रही है।

– सीमा

– स्वास्थ्य केंद्र में पंखे तो लगे है, लेकिन उनको चलाने के लिए बिजली की व्यवस्था नहीं है। मरीजों का गर्मी से बुरा हाल है। विभाग को इस पर विचार करने की जरूरत है। ऐसे में मरीजों को काफी दिक्कत हो रही है।

– आंशिका

वर्जन

अगवानपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बिजली कनेक्शन कराने की प्रक्रिया काफी समय से चल रही है। बिजली निगम ने इस्टीमेट भेज दिया है। विभाग के खाते में रखरखाव के पैसे नहीं हैं। व्यवस्था करके पैसा जमा कराया जा रहा है। जल्द ही स्वास्थ्य केंद्र बिजली से जगमगाएगा।

– राजीव चौधरी, चिकित्सा प्रभारी ताजपुर, अगवानपुर

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *