योगी सरकार पर जमकर बरसे अखिलेश, कहा

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा राज में अराजकता को खुली छूट मिली हुई है। लूट, अपहरण, बलात्कार की शर्मनाक घटनाओं के साथ गरीबों के घरों पर बुलडोजर कहर ढा रहा है। किसानों को जीप से रौंदा जा रहा है। महिलाओं और मासूम बच्चियों के लिए उत्तर प्रदेश सर्वाधिक असुरक्षित प्रांत हो गया है।
अखिलेश ने सोमवार को जारी बयान में कहा कि गृह मंत्रालय ही पदमुक्त अकर्मण्य डीजीपी का चयनकर्ता था। वहीं सबसे ज्यादा अव्यवस्था है। भाजपा सरकार के वसूलीतंत्र ने समूची पुलिस व्यवस्था को कलंकित कर रखा है। कानपुर की चकेरी पुलिस के बाद अर्मापुर पुलिस की कथित वसूली की फिक्स रेट लिस्ट की चर्चा सोशल मीडिया पर वायरल हुई है।
उत्तर प्रदेश में दबिश के नाम पर पुलिस घरों में घुस कर महिलाओं से अभद्रता के मामले में नया इतिहास रच रही है। प्रयागराज में न्याय और सुरक्षा को ठोकर मार कर पुलिस ने जातीय वैमनस्यता में महिलाओं से मारपीट की। मिर्जापुर में गायब बेटी की खोज में पुलिस ने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। पिछले दिनों 82 मासूम लापता हुए 79 बच्चों को तलाशने में पुलिस नाकाम। पुलिस केवल पोस्टर लगाकर बैठ जाती है। 

संबंधित खबरें

सिद्धार्थनगर में पुलिस की गोली से महिला की मौत हुई। चंदौली में भी दबिश में गई पुलिस की दरिंदगी की एक किशोरी शिकार हुई। पुलिस अपराधियों को संरक्षण प्रदान करती है। कैसी विडम्बना है कि उत्तर प्रदेश में भाजपाई कभी रेप आरोपी को छुड़वाने की पैरवी करते हैं और कभी छेड़छाड़ के आरोपी को छुड़ाने के लिए कोतवाली में हंगामा करते हैं। बड़ा सवाल यह है कि अपराधियों और भाजपाइयों की जुगलबंदी से बेटी कैसे बचाए? जनता की जिंदगी को अच्छे दिनों के नाम पर कब तक गुमराह किया जाता रहेगा?

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *