यमुना में नहा रहे 11 युवकों पर एंटी ग्रुप ने लाठी- डंडों से किया जानलेवा हमला, 5 की डूबने से मौत

यमुना नगर. हरियाणा के यमुना नगर में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां रविवार को यमुना नहर में नहाने गए 11 दोस्तों पर बदमाशों ने लाठी- डंडे और इंट- पत्थरों से हमला कर दिया. इससे मौके पर भगदड़ मच गई. हालांकि, इस दौरान 6 दोस्तों ने तो भागकर अपनी जान बचा ली. मगर 5 बचने के लिए यमुना नहर में कूद गए और तेज बहाव में बह गए. ऐसे में डूबने से उन पांचों की मौत हो गई. हमलावरों ने उस गाड़ी को भी तोड़ दिया जिसमें सवार होकर ये 11 दोस्त यमुना में नहाने आए थे.

वहीं. सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय गोताखोरों की मदद से यमुना नहर में डूबे पांचों युवकों की तलाश शुरू कर दी है. मगर रात तक कोई कामयाबी हाथ नहीं लगी. लिहाजा सोमवार सुबर एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची और यमुना नहर में सर्च आप्रेशन शुरू कर दिया. मौके पर डीसी, एसडीएम और डीएसपी सहित जिला के तमाम आलाधिकारी भी मौजूद रहे. काफी मशक्कत के बाद एनडीआरएफ की टीम ने दो युवकों के शव को यमुना से बाहर निकाले में कामयाबी हासिल की. मृतकों की पहचान निखिल गुप्ता और साहिल के रूप में हुई है.

खूनी मंजर का आखों देखा हाल बताया
वहीं, हमले में बाल-बाल बचे दीपक ने बातचीत करते हुए न्यूज18 को बताया कि 11 दोस्तों पर हुए इस जानलेवा हमले में जिन लोगों ने भागकर अपनी जान बचाई उनमें से एक मैं भी (दीपक) हूं. उसने कहा कि अभी भी उस मंजर को याद कर सिहर उठता हूं. हमारी टीम के साथ विशेष बातचीत में दीपक ने इस खूनी मंजर का आखों देखा हाल बताया.

जान बचाने के लिए दूर तक तैराकी भी की थी
बता दें कि सर्च ऑपरेशन एनडीआरएफ के इंस्पेक्टर कमांडर संजीव कुमार के नेतृत्व में चल रहा है. संजीव कुमार ने बताया कि उनकी टीम में 15 सदस्य हैं और इसके अलावा कुरूक्षेत्र और यमुनानगर की स्थानीय गोताखोर और मधुबन से आई एक अन्य टीम भी इस सर्च अभियान में लगी हुई है. उन्होंने बताया कि अभी तक पांच में से साहिल और निखिल नामक दो युवकों के शव यमुना से मिले हैं. बाकी तीन की तलाश भी लगातार जारी है. संजीव कुमार ने बताया कि अब वह अपने सर्च का दायरा पांच किलोमीटर तक बढ़ाने जा रहे हैं, क्योंकि उन्हें इनपुट मिला है कि डूबने वाले कुछ युवकों ने जान बचाने के लिए दूर तक तैराकी भी की थी.

वहीं, डीसी पार्थ गुप्ता ने बताया कि सर्च अभियान लगातार जारी है. दो के शव बरामद हो गए हैं बाकी युवकों की तलाश जारी है. इसके अलावा नहर में पानी के बहाव को भी कम करवाया गया है. डीसी पार्थ गुप्ता ने कहा कि गोताखोरों और एनडीआरएफ की टीमें लगातार तलाश कर रही हैं. उपायुक्त ने यह भी बताया कि यह दो गुटों की आपसी रंजिश का मामला है.

13 से अधिक बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज
डीएसपी प्रमोद कुमार ने बताया कि इस मामले में 13 से अधिक युवकों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है. बहुत जल्द उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया जाएगा. डीएसपी ने बताया कि करीब 11 युवक यमुना में स्नान कर रहे थे. तभी अचानक उनके विरोधी ग्रुप ने हमला कर दिया. इस दौरान पांच युवकों ने जान बचाने के लिए यमुना में छलांग लगा दी, पर डूबने से सभी की मौत हो गई. और बाकी के 6 युवकों ने इधर-उधर भागकर अपनी जान बचाई.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *