नीबू-मिर्च थोड़ा सस्ता पर गोभी, मटर, आलू, अदरक महंगे

फरीदाबाद। सब्जियों के दाम में लगातार वृद्धि हो रही हैं। नीबू-मिर्च के दामों में कुछ गिरावट के आने के बावजूद यह आम लोगों से दूर है। इससे लोगों की परेशानी बढ़ रही है। गोभी, आलू, अदरक, परवल, शिमला मिर्च आदि लोगों की थाली से दूर होती जा रही है। लोगों का कहना है कि इससे किचन का बजट बिगड़ता जा रहा है।

लगातार बढ़ रही गर्मी में चिकित्सक लोगों को हरी सब्जियां खाने की सलाह दे रहे हैं। मौजूदा समय में महंगी सब्जियां लोगों के जेब की सेहत बिगाड़ रही है। लोगों का कहना है कि सब्जियों के लिए पहले वह महीने में 1000 से 1500 रुपये का बजट बनाते थे। अब महीने में 2500 से 3000 रुपये केवल सब्जियों पर ही खर्च हो जा रहा है। इससे कम आमदनी वाले लोगों की परेशानी बढ़ गई है। उनकी थाली से दो वक्त की सब्जियां दूर हो रही है। उधर, सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि इससे उनकी भी परेशानी बढ़ गई है क्योंकि बाजार में सब्जियों की आवक कम हो गई है। किसान कहते हैं कि गर्मी बढ़ने से उनका फसल खराब हो रहा है। इससे सब्जी की खेती कम हो गई है। लिहाजा यह महंगे हो रहे हैं। वहीं बंद गोभी, खीरा, लौकी और पेठा के दर में थोड़ी कमी आई है। पहले नीबू प्रति किलो 250 से 300 रुपये में मिल रहे थे लेकिन अब इसकी कीमत करीब 150 रुपये प्रति किलो मिल रहा है। मिर्च भी 100 रुपये प्रति किलो मिल रहे हैं। इसकी कीमत पिछले महीने तक 200 रुपये से अधिक था।

सब्जियों के दाम

सब्जी: पहले– अब

गोभी: 80– 100

मटर: 80– 100

अदरक: 60– 80

टिंडे: 30–40

बैंगन: 30–40

करेला: 30–40

आलू: 15–20

प्याज: 15– 20

बीन्स: 80–100

(नोट: सभी सब्जियों के दर प्रति किलो के हिसाब से है।)

गर्मी में फसल खराब होने के कारण सब्जियों के दाम बढ़े हैं। ऐसी ही गर्मी रही तो आने वाले दिनों में सब्जी के दाम और अधिक बढ़ सकते हैं।

-जगदीश, सब्जी विक्रेता, मार्केट सेक्टर 16

——-

महंगाई बढ़ रही है। गर्मी के कारण सब्जियां खराब हो जाती है। टमाटर के दाम बढ़ने वाले हैं।

-सुरेंद्र चौधरी, सब्जी विक्रेता मार्केट सेक्टर 16।

——-

कभी सब्जी तो कभी राशन के दाम में बढ़ोतरी हो रही है। प्रतिदिन बढ़ती महंगाई में गुजारा करना मुश्किल होता जा रहा है।

– देव शर्मा, खरीदार।

——

राशन तेल चीनी और अब सब्जी महंगी हो रही है। इससे किचन का बजट बिगड़ रहा है। समझ नहीं आ रहा कैसे गुजारा होगा।

– प्रीति, गृहिणी।

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *