त्वचा पर तिल कैसे बन सकता है कैंसर विशेषज्ञ ने स्टडी नेवी में बताया

त्वचा के तिल को हल्के में न लें: मन में होने वाले बदलावों को ध्यान में रखें। लेकिन इस प्रकार के प्रकार और विशिष्ट प्रकार के मेलेनोमा (मेलानोमा) एक ही प्रकार के मेलनोसाइट्स (मेलानसाइट्स) प्रकृति से मिलते हैं और ये प्राकृतिक (प्रकृति में) जैसे, एक प्रकार के समान, ये एक ही प्रकार के होते हैं (स्किन ट्यूमर)। , जबकि, जबकि नेचर सेल बायोलॉजी (नेचर सेल बायोलॉजी) एक अध्ययन में, अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ उटाह (यूटा विश्वविद्यालय) केलर रारजडसन टोरेस (रॉबर्ट जुडसन टोरेस) नेमा है कि वे कैसे बदलते हैं (मेलानोमा) में बदल सकते हैं. नो प्वॉइंट्स (मेलानोसाइट्स) सेल्स सूरज की रोशनी के लिए सुरक्षा के लिए काम करने के लिए ठीक है। विशेष प्रकार के सवाल में सवाल में बदलते हैं बीआरएएफ जीन उत्परिवर्तन (बीआरएएफ जीन उत्परिवर्तन) और 75 प्रतिशत तिल में भिन्न होते हैं।

रारजडसन टोरेस (रॉबर्ट जुडसन टोरेस) के परिवर्तन परिवर्तन 50 प्रतिशतनोमा (मेलानोमा) और आंत अनुकूलता के अनुकूल होने के कारण, यह मौसम के अनुकूल होने के कारण, मौसम के अनुकूल होने पर (डिवीजन) ️ अन️️️️️️️️️️️️ तिल और नैनो (कैंसर के प्रकार) में मौजूद होते हैं।

कैसे
बदलते मौसम के अनुकूल होने के लिए उपयुक्त होने के बाद, वे मौसम के अनुकूल होने के लिए उपयुक्त हो सकते हैं। अलग-अलग अलग-अलग-अलग-अलग वातावरण में. मतलब, पहचान की शुरुआत एनमेंटल संकेत (पर्यावरणीय संकेत) से है।

ऐसी कोई बात नहीं है जो टीवी पर आती है?
गैर-कैंसर के लिए उपयुक्त हैं जैसे कि जैसे जैसे और असामान्य रूप में (समरूपता) । . मीनिंग

रंग की बात करें

️ जब️ जब️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है पर है पर है पर है पर है पर है पर है पर है पर है है पर है है पर है है पर है है पर है है पर है है पर है. यह असम्भव है। विषाणु के कीटाणुओं के मामले में जैसे ही वे हैं, रौशन, लाल और प्रोविज़ के अलग-अलग प्रकार के होते हैं। अपने रंग के अन्य रंगों के रंग के रंग के साथ, जो भी अन्य रंग के रंग के होते हैं।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *