डॉक्टर ने शिक्षिका से किया रेप:घर पर बच्चों को पढ़ाने आती थी ट्यूशन, एडिट कर अश्लील फोटो बनाकर करता था ब्लैकमेल

लखनऊ के गाजीपुर थाना क्षेत्र में एक डॉक्टर ने घर पर बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने वाली किशोरी की फोटो को एडिट कर अश्लील बनाया। जिसको दिखाकर किशोरी को ब्लैकमेल कर दुष्कर्म करने लगा। किशोरी के गर्भवती होने पर गर्भपात की दवा खिला दी। पीड़िता की तबियत बिगड़ने पर परिजनों को घटना की जानकारी हुई। पुलिस ने सोमवार को पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी डॉक्टर शेखर सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

नाबालिग शिक्षिका को ब्लैकमेल कर शाऱीरिक शोषण करने वाले डॉ. शेखर सिंह को पुलिस ने आरोपों के आधार पर गिरफ्तार लिया। - Dainik Bhaskar
नाबालिग शिक्षिका को ब्लैकमेल कर शाऱीरिक शोषण करने वाले डॉ. शेखर सिंह को पुलिस ने आरोपों के आधार पर गिरफ्तार लिया।

वीडियो वायरल करने की धमकी देता था

गाजीपुर थाना क्षेत्र स्थित इंदिरानगर सी-ब्लाक निवासी किशोरी के परिजनों के मुताबिक, बेटी आरोपी के घर बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने जाती है। इस दौरान उसने बेटी की फोटो किसी तरह हासिल कर उसको अश्लील बना दिया। आरोपी ने एक दिन बेटी को बच्चों के घर न होने पर उसी फोटो को दिखा ब्लैकमेल कर दुष्कर्म किया। इसी दौरान उसका एक वीडियो भी बना लिया। जिसको वायरल करने की धमकी देकर घर बुला कर शारीरिक शोषण करने लगा।

शारीरिक शोषण के दौरान बेटी के गर्भवती होने पर गर्भपात की दवा खिला दी। जिससे उसकी तबियत बिगड़ गई। इसकी जानकारी होने पर रविवार रात गाजीपुर थाने में आरोपी के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच कर कार्रवाई की बात कही।

एसीपी गाजीपुर के मुताबिक, परिजनों की तहरीर पर आरोपी शेखर सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपी डॉक्टर की उम्र करीब 40 साल है। उसको गिरफ्तार कर मामले की जांच पड़ताल की जा रही है।

बच्चों को पढ़ाई के नाम पर कमरे में बंद कर करता था शारीरिक शोषण

पीड़िता का आरोप है कि घटना के दिन उसने बच्चों के न होने पर कुछ देर इंतजार करने की बात कही। जिसके बाद चाय पीने के दौरान एक मेरी अश्लील फोटो दिखाई। इसी दौरान मैं चक्कर खाकर गिर गई। होश आने पर गलत होने की जानकारी हुई। आरोपी ने जिसका वीडियो बना लिया। जिसे वायरल करने की धमकी देकर शारीरिक शोषण शुरू कर दिया। इस दौरान बच्चों को को पढ़ाई के नाम पर कमरे में बंद कर देता था। इसके बाद गर्भवती होने पर जान का खतरा बताकर दवाई देना शुरू कर दिया। तबियत बिगड़ने पर परिजनों को पता चला। इसेक बाद पुलिस को सूचना देने पर जान से मारने की धमकी देने लगा।

Source Link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *